देश मध्य-प्रदेश

भय्यू महाराज के ड्राइवर सहित तीन बदमाश पुलिस गिरफ्त में

न्यूज़ शेयर करना न भूले |
  • 1
  •  
  •  

इंदौर। भय्यू महाराज के वकील को फोन कर पांच करोड़ की धमकी देने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने गिरμतार किया है। इसका मुख्य आरोपी भय्यू महाराज का ड्राइवर है। एएसपी शैलेंद्रसिंह चौहान ने बताया कि वकील निवेश बड़जात्या ने शिकायत करते हुए बताया कि उन्हें फोन पर अज्ञात बदमाशों द्वारा पांच करोड़ की फिरौती देने का दबाव बनाया जा रहा है। नहीं देने पर उसे व उसके परिवार को गोली मारने की धमकी दी जा रही है। इस पर एमआईजी पुलिस ने धारा 386, 507 के तहत प्रकरण दर्ज किया था। धमकी मिलने के बाद से ही पुलिस टीम जांच में जुट गई थी। जांच- पड़ताल की गई तो पता चला कि फोन बॉम्बे अस्पताल व महालक्ष्मी नगर के आसपास से किया गया था। इसके बाद पुलिस टीम ने अलग-अलग होटलों व ढाबों की जांच-पड़ताल की। पुलिस ने गोल्डन गेट के पास से सुमित पिता राजकुमार चौधरी (23) निवासी ग्वालियर को हिरासत में लिया। गुमराह करने के बाद टूटे प्रारंभिक पूछताछ में सुमित ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, लेकिन ज्यादा देर तक टिक नहीं पाया। उसने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया कि उसे दो लोगों ने आईफोन व 20 लाख का लालच देकर गलत पते का आधार कार्ड देकर सिम खरीदवाई और धमकी दिलवाई थी। उससे मिली जानकारी के आधार पर टीम ने अनुराग व कैलाश को हिरासत में लिया। अनुराग ने बताया कि उसकी पहचान कैलाश पाटिल से गाड़ी रिपेयरिंग के समय गैरेज पर हुई थी। कैलाश ने उसे बताया था कि लाला उर्फ निवेश बड़जात्या भय्यू महाराज की पत्नी की संपत्ति की देखभाल करता है। उसके पास काफी पैसा है। यदि उसे धमकाया जाए तो वह आसानी से रुपए दे देगा। इस पर पुलिस ने कैलाश पाटिल को हिरासत में लिया।
ड्राइवर के पास थी पूरी जानकारी
इस पर पुलिस ने तीनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की। कैलाश ने पुलिस को बताया कि वह भय्यू महाराज के यहां ड्राइवर था। यहां फरियादी निवेश बड़जात्या का आना-जाना था। वह अभी भी भय्यू महाराज की संपत्ति की देखभाल करता है। उसके पास काफी रुपया होने का अनुमान था। वह गोली मारने की धमकी देने पर डरकर आसानी से पांच करोड़ रुपए दे देगा। कैलाश का कहना है कि उसी ने सुमित व अनुराग के साथ मिलकर फिरौती की योजना बनाई थी। पुलिस ने सुमित पिता राजकुमार चौधरी (23) निवासी बालाबाई बाजार ग्वालियर हालमुकाम स्कीम नं. 54, अनुराग पिता देवेन्द्र रोजिया (28) निवासी विजयनगर और कैलाश पिता किशन पाटिल (44) निवासी ग्राम चिसपुर पोस डिडोरा तह. मोताड़ा बुलढाना हालमुकाम स्कीम नं. 78 स्लाईस-3 को गिरμतार कर लिया। पुलिस ने इनके पास से सिम व कार भी जब्त की है। थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि खुलासा करने में एसआई नितिन पटेल, आर. नीरज, रामकृष्ण पटेल, अनुपम, अजय, योगेश का महत्वपूर्ण योगदान रहा।