देश

किसी हसीना से कम नहीं दिखती आर्मी की यह लेडी अफसर, बुलेट पर खड़े होकर देगी तिरंगे को सलामी

न्यूज़ शेयर करना न भूले |
  •  
  •  
  •  

70वां गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को है। हर बार की तरह आर्मी डेयरडेविल टीम इस बार बाइक पर स्टंट्स करने वाली है। लेकिन 28 साल की कैप्टन शिखा सुरभि इस बार लाइमलाइट में हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है जब कोई महिला अफसर रॉयल एनफील्ड बुलेट पर खड़े होकर तिरंगे को सलामी देगी।झारखंड की 28 वर्षीय कैप्टन शिखा सुरभि पुरुष डेयरडेविल्स टीम के बीच अकेली महिला ऑफिसर होंगी। वह रॉयल एनफील्ड एनफील्ड 350सीसी पर स्टंट करेंगी।बाइक पर बिना हैंडल पकड़े बैलेंस बनाना इतना आसान काम नहीं होता है। इसके अलर्टनेस, हिम्मत और स्टैमिना होना जरूरी है। बाइक पर एक से बढ़कर एक स्टंट दिखाने वाली डेयरडेविल्स टीम 1935 में बनाई गई थी और इसके नाम 24 वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है जिसमें गिनीज और लिम्का बुक अवॉर्ड भी शामिल हैं।सुरभि ने एक इंटरव्यू में कहा है कि मैं शुरू से ही एक स्पोर्ट्सपर्सन थी। मैं बॉक्सिंग किया करती थी और बास्केटबॉल खेला करती थी। खेल में शुरू से रहने की वजह से मुझे इंडियन आर्मी ज्वॉइन करने की प्रेरणा मिली।सुरभि ने आईटी से बीटेक किया है और उसके बाद इंडियन आर्मी ज्वाइन करने के लिए जमकर मेहनत की। शिखा ने कहा है कि बाइक चलाना और उस पर एडवेंचर परफॉर्म करना रातोंरात नहीं हो गया। मैं आर्मी ज्वॉइन करने से पहले बाइक चलाती थी। मैंने बाइक से लद्दाख और भूटान की ट्रिप भी की है।लेडी डेयरडेविल ने यह भी कहा कि मैं पिछले 3 महीने से अभ्यास कर रही थी। शुरू में मैं हाथ छोड़कर बुलेट नहीं चला पा रही थी लेकिन टीम ने मुझे सिखाने में बहुत मदद की। धीरे-धीरे मैं सीख गई कि बाइक पर कैसे खड़े होना है। बाइक पर अलग-अलग तरह के स्टंट से मेरे अंदर आत्मविश्वास आ गया है।पुरुषों की टीम में अकेली महिला होने कैप्टन शिखा ने कहा कि पहले मुझे लगता था कि मैं इस टीम का हिस्सा कैसे बन पाऊंगी लेकिन जब मैंने टीम ज्वॉइन की तो वहां मुझमें और किसी दूसरे ऑफिसर में कोई फर्क नहीं किया गया।शिखा ने कहा कि मैं देखती हूं जब पूरी कन्टिगजेंट जा रही होती है तो शोर मचता है लेकिन जब मैं गुजरती हूं तो बच्चे तालियां बजाते हैं, एक अलग तरह से उत्साह देखने को मिलता है।डेयरडेविल्स को केवल बाइक की सवारी ही नहीं करनी होती है बल्कि खतरनाक स्टंट करने होते हैं। लेकिन कैप्टन शिखा सुरभि बारिश की फिसलन वाली सड़कों पर भी बाइक चलाने में पारंगत हैं।वहीं, शिखा ने स्टंट में आने वाली चुनौतियों पर शिखा ने कहा कि मौसम बदलने पर थोड़ी दिक्कत आती है। जब हवाएं तेज चलती हैं तो बाइक को बैलेंस करना मुश्किल होता है। लोटस फॉर्म में 11 लोग होते हैं और तब बैलेंस करना मुश्किल होता है।