देश नई दिल्ली

कभी खौफ का नाम था रवि पुजारी, स्कूल छोड़ते ही हो गई थी जुर्म की दुनिया में एंट्री

न्यूज़ शेयर करना न भूले |
  • 1
  •  
  •  

नई दिल्लीः अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के बाद अब उसका सबसे पुराना साथी और गैंगस्टर रवि पुजारी भी पुलिस की आ चुका है. 90 के दशक में बॉलीवुड में आतंक का पर्याय बन चुके रवि पुजारा को अफ्रीकी देश सेनेगल से गिरफ्तार किया गया है. रवि पुजारी को जल्द पूछताछ के लिए भारत लाया जाएगा. खबर है कि रवि पुजारी को सेनेगल के डकार इलाके से 22 जनवरी को गिरफ्तार किया गया, वहां के दूतावास ने भारतीय दूतावास को 26 जनवरी को सूचना दी. भारतीय एजेंसियां अब रवि पुजारी को भारत लाने की कोशिश में लगी है.
बचपन में ही स्कूल से निकाले जाने के बाद रवि पुजारी ने मुंबई के अंधेरी इलाके से ही अपराध की दुनिया में कदम रखा. कुछ सालों तक वह छोटे मोटे अपराधों में शामिल रहा, लेकिन बाद में अपने विरोधी बाला झाल्टे की हत्या के बाद जुर्म की दुनिया में रवि पुजारी की हनक बढ़ने लगी. इसके बाद से ही वह गैंगस्टर छोटा राजन की नजरों में आया और उसके गैंग में शामिल हुआ. धमकी और वसूली की बढ़ती वारदातों ने अपराध जगत में राजन गैंग का ग्राफ इतना बढ़ा दिया कि रवि पुजारी थोडे़ ही समय में छोटा राजन का राइट हैंड हो गया.
रवि पुजारी इंग्लिश, हिंदी और कन्नड़ भाषाएं जानता है. पुजारी साल 1990 में दुबई चला गया और वहां से ही मुंबई में अपराध को ऑपरेट करता. मुंबई में बिल्डरों और होटल मालिको को धमकाकर उनसे वसूली का धंधा शुरू किया. 1990 में रवि पुजारी के तीन गुर्गों ने मुंबई के कुकरेजा बिल्डर के ऑफिस में जाकर ओम प्रकाश कुकरेजा की हत्या कर दी थी. इसके 8 साल बाद नवी मुंबई के बिल्डर सुरेश वाधवा पर भी जानलेवा हमले में पुजारी गैंग का नाम आया. इस हमले में सुरेश वाधवा ने किसी तरह अपनी जान बचाई थी.
साल 2000 में जब थाईलैंड के बैंकाक में दाऊस इब्राहिम ने छोटा राजन को मारने की कोशिश की, तो राजन और पुजारी के बीच भी दरार आ गई और उनके रास्ते भी अलग-अलग हो गए. ऐसा बताया जा रहा था कि की पुजारी फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में और उसने वहां की नागरिकता ले ली है.
मीडिया में ऐसी भी खबरें आई कि रवि पुजारी अक्सर मुंबई पुलिस को फ़ोन करके बताता रहता है कि उसने उन पुलिसकर्मियो पर निशाना बनाया हुआ है जो दाऊद इब्राहिम से जुड़े हुए है. 13 फरवरी 2016 को जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (JNU) विवाद में रवि पुजारी ने कट्टरपंथी हुर्रियत गुट के सैयद अली शाह गिलानी को ख़त्म करने की धमकी भी दी थी.
बॉलीवुड कलाकारों को देता रहा है धमकी
रवि पुजारी सलमान खान, अक्षयकुमार, करण जौहर, राकेश रोशन और शाहरुख़ खान जैसे सितारों को धमकी दी है. शाहरुख की फिल्म हैप्पी न्यू इयर (2014) के विदेशी राइट्स देने के लिए रवि पुजारी ने उन्हें धमकी दी थी. साथ ही रवि पुजारी ने शाहरुख़ खान को करीम मोरनी से कोई भी कॉन्ट्रैक्ट नहीं करने की भी धमकी दी थी, जो शाहरुख़ के अच्छे दोस्त और बिजनेस पार्टनर हैं.
इससे पहले भी वे करिश्मा कपूर के पति संजीव कपूर को भी 50 करोड़ रुपये की मांग करते हुए धमकी भरा मेल भी भेज चुके है. लेकिन जब पुजारी का खास आदमी दूसरा ईमेल भेजने के लिए साइबर कैफ़े आया था तब पुलिस ने राजकुमार वाज़िरानी (पुजारी का खास आदमी) को मुंबई में गिरफ्तार कर लिया था.
इसके बाद पुजारी ने मुंबई के प्रसिद्ध वकील मजीद मेमन को भी मारने का असफल प्रयास किया था. पुजारी का कहना था की उसके आदमियों ने मेमोन को मारने की कोशिश इसलिए की थी क्योकि उसके संबंध अंडरवर्ल्ड डॉन दावूद इब्राहीम और छोटा शकील से थे.
पुजारी का कहना है की, “मै उन सभी को ख़त्म करना चाहता हु जिनका दाऊद और शकील के साथ कोई भी संबंध है. वे भारत विरोधी है और ISI (पाकिस्तान इंटर सर्विस इंटेलिजेंस) से जुड़े हुए है.” यह सब पुजारी ने आक्रमण के बाद टेलीविज़न चैनल पर आकर कहा था.
साथ ही उन्होंने यह भी दावा किया है की भट्ट और बॉलीवुड फिल्म प्रोड्यूसर वाशु भगनानी दावूद इब्राहीम के ही आदमी है और वे उनकी नजरो से ज्यादा समय तक जिन्दा नही बच सकते. लेकिन पुलिस ने पुजारी के इस बयान को लोगो में दहेशत फ़ैलाने का एक जरिया बताकर ख़ारिज कर दिया. मुंबई पुलिस के जॉइंट कमिश्नर (क्राइम) अरूप पत्निक का कहना है की, “पुजारी केवल अपना प्रचार करने की कोशिश कर रहा है. ऐसी हरकते कर वह बॉलीवुड हस्तियों के दिमाग में अपना डर बनाना चाहता है.”