नई दिल्ली

थप्पड़ मारे जाने की घटना पर बोले अरविंद केजरीवाल: ये मुझे मारने की साजिश है, मुझे रास्ते से साफ करना चाहते हैं

न्यूज़ शेयर करना न भूले |
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली: दिल्ली में चुनावी रोड शो के दौरान थप्पड़ मारने जाने की घटना को आम आदमी पार्टी (AAP) के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बीजेपी की साजिश करार दिया है. अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि ये थप्पड़ मारे जाने की घटना उन्हें मारने की साजिश है. रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी पर हमलावर को भेजने का आरोप लगाया और कहा कि पीएम मोदी ने ही मुझे मरवाने के लिए भेजा है. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये मुझे रास्ते से साफ करना चाहते हैं. घटना को लेकर एफआईआर करने के सवाल पर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम एफआईआर क्यों करेंगे, उन्हें दिख रहा है. अगर किसी राज्य के मुख्यमंत्री पर हमला हो जाये तो कमिश्नर की कुर्सी चली जाती है. मेरी ज़िम्मेदारी केंद्र है, तो पीएम को भी इस्तीफा देना चाहिए.
अरविंद केजरीवाल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि ये हमें रास्ते से साफ करना चाहते हैं, ये हमें मारना चाहते हैं. इनका मकसद है कि किसी तरह इसे हटा दो. ये हमला मुझ पर नहीं हुआ है. ये जो अब तक 9 हमले हुए हैं, ये मुझ पर नहीं, बल्कि दिल्लीी की जनता पर हुए हैं. ये दिल्ली की जनता पर हमला किया गया है. दिल्ली की जनता इसका बदला जरूर लेगी. दिल्ली की जनता ये देख रही है. दिल्ली का विकास ये लोग नहीं देख पा रहे हैं. इसलिए ये हमले करवा रहे हैं. हमारा कसूर बस इतना है कि मैं मोदी जी के खिलाफ बोलता हूं और दिल्ली में विकास की बात करता हूं.
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मेरे ऊपर पांच साल में ये नौंवां हमला है. मुख्यमंत्री बनने पर पांचवा हमला है. आज तक किसी मुख्यमंत्री पर इतने हमले नहीं हुए हैं. मेरी सुरक्षा की जिम्मेदारी विरोधी पार्टी की है. सरकार पर है. इसमे षड्यंत्र है. चूक एक बार हो सकती है, मगर बार-बार नहीं. आम आदमी का राजनीति में आना इनको बरदाश्त नहीं हो रहा है. मेरे ऊपर 33 केस है. इतना ही नहीं, झुठे केस में मेरे रिश्तेदारों को पकड़ रहे हैं.
उन्होंने आगे कहा कि हमारा विधायकों को खरीदा जा रहा है. जब बाकी हथकंडे नहीं चले तो अब हमला करवा रहे हैं. रास्ते से साफ करना चाहते हैं. मेरी कोई औकात नहीं है. ये हमला दिल्ली की जनता पर हुआ है. उन्होंने जनता का अपमान किया है. हमारा कसूर है कि हमने काम किया है. जिस तरह से जनाधार बढ़ रहा है तो जनता इनसे सवाल पूछ रही है. दिल्ली की जनता ने कुर्सी पर बैठाया है. इनके हमले से डरा नहीं हूं. खून का एक एक कतरा लोगों के लिये है.
उन्होंने आगे कहा कि हमलावर की पत्नी ने कहा है कि उनके पति मोदी भक्त हैं. यह हमला एक संकेत है कि अगर कोई मोदी के खिलाफ बोलेगा तो उसका यही हाल होगा. आवाज को दबाने की कोशिश है. ये तानाशाही की निशानी है. हर कोई नेता इसके खिलाफ आवाज उठा रहा है. देश मोदी से डरा नही है. ऐसी कौन सी बात है जिसको ये दबाना चाहते हैं. मैं सवाल उठा रहा हूं मोदी और पाकिस्तान के बीच आखिर में क्या रिश्ते है? ये क्या चल रहा है.