खबरें

मध्यप्रदेश / चलती ट्रेन से दाे साल की बालिका काे फेंका, ट्रैक किनारे मिली, 10 टांके अाए

न्यूज़ शेयर करना न भूले |
  •  
  •  
  •  

खंडवा .दाे साल की बालिका काे चलती ट्रेन से मरने के लिए फेंक दिया, लेकिन उसकी किस्मत में अभी अाैर जीना लिखा था। ट्रैक किनारे पड़ी इस बालिका पर रेलवे के रनिंग स्टाफ की नजर पड़ी अाैर उन्हाेंने जीअारपी काे इसकी सूचना दी।

जीअारपी ने बालिका काे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। यहां उसे सिर में 10 टांके लगे हैं। फिलहाल उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। इधर, जीअारपी का कहना है कि बालिका के माता-पिता की तलाश कर रहे हैं। उसे फेंका या वह गिर गई, यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा।

जानकारी के मुताबिक मंगलवार सुबह खंडवा से 3 किमी दूर आबना नदी के पास ट्रैक किनारे खून से लथपथ पड़ी 2 साल की बालिका काे चाबीमैन ने देखा। डायल 100 से बालिका को लेकर अस्पताल लाया गया। जहां उसके सिर में 10 टांके आए। बच्ची को गंभीर हालत में फीमेल सर्जिकल वार्ड में भर्ती किया है। चाबीमैन सतीश प्रभाकर ने बताया कि मंगलवार सुबह आठ बजे ब्रिज पर चैकिंग की तो यहां कोई नहीं था। सुबह करीब 10 बजे रेलवे ट्रैक पर चैकिंग के दौरान यह बालिका मिली थी। मैंने मुकद्दम को फोन कर दूसरे चाबीमैन को ड्यूटी पर भेजने को कहा। इसके बाद डायल 100 को फाेन किया।

उन्हाेंेने बताया कि संभवत: किसी ने बालिका को ट्रेन से फेंका हाेगा।

महिलाएं लाईं बिस्किट और खिलौने :फीमेल मेडिकल वार्ड में भर्ती महिलाओं के साथ अाई अन्य महिलाअाें को जैसे ही इस घटना का पता चला, वे बच्ची को देखने पहुंचीं और उसे दुलार किया। कुछ महिलाएं बच्ची के लिए बिस्किट, कपड़े अाैर कुछ खिलाैने भी लाईं। बताया जा रहा है कि बच्ची का नाम मिलू रखा गया है।