देश

दिल्ली यूनिवर्सिटी: अब तक 38.5% सीटें भरीं, दूसरी कटऑफ लिस्ट आज

न्यूज़ शेयर करना न भूले |
  •  
  •  
  •  

दिल्ली विश्वविद्यालय में अंडरग्रैजुएशन कोर्सों के लिए 23780 हजार ऐडमिशन हो चुके हैं। डीयू के सभी कॉलेजों में मिलाकर 60 हजार से ज्यादा सीटे हैं।

नई दिल्ली
दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंडरग्रैजुएशन कोर्सों के लिए 23780 हजार ऐडमिशन हो चुके हैं। डीयू के सभी कॉलेजों में मिलाकर करीब 61500 सीटें हैं। दूसरी कटऑफ लिस्ट आज यानी 3 जुलाई, 2019 को जारी होगी। 4 जुलाई को कॉलेजों के नोटिस बोर्ड में भी यह लिस्ट लगा दी जाएगी, ऐडमिशन 4 जुलाई से लेकर 6 जुलाई तक होंगे। डीयू के कई टॉप कॉलेजों में टॉप कोर्सों की सीटें भर चुकी है, दूसरी लिस्ट में हिंदू, मिरांडा, एलएसआर जैसे कॉलेजों में जनरल के लिए ये नहीं खुलेंगे। हालांकि, बाकी कई कॉलेजों में .25% से 1% की गिरावट के साथ टॉप कोर्स जैसे बीकॉम, इंग्लिश, इको, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, फिजिक्स, मैथ्स, केमिस्ट्री समेत कई कोर्स जनरल कैटिगरी के लिए भी खुलेंगे। अरबिंदो, एआरएसडी, आंबेडकर, पीजीडीएवी, डीडीयू समेत कई कॉलेजों में अभी 40% ही ऐडमिशन हुए हैं।
डीयू में मंगलवार को आंध्र बोर्ड के स्टूडेंट्स को ऐडमिशन का मौका दिया गया। इन स्टूडेंट्स की मार्कशीट में ग्रेड होने की वजह से इन्हें नंबर में बदलने की उलझन दूर हुई। यूनिवर्सिटी ने इसके लिए गाइडलाइंस कॉलेजों को देरी से दी थी और बाद में आंध्र बोर्ड से ग्रेड को नंबर बदलने की वजह से उलझन और बढ़ गई, क्योंकि कॉलेजों और आंध्र बोर्ड के नंबरों ऊपर नीचे थे। मंगलवार को आंध्र के फॉर्म्युले के हिसाब से नंबर लिए गए। इस मसले पर मंगलवार को वाइस चांसलर प्रो योगेश त्यागी और डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर डॉ राजीव गुप्ता वाइस प्रेजिडेंट वैंकया नायडु से भी मिले।
डीयू की दूसरी कटऑफ में कई टॉप कॉलेजों में पहली कटऑफ पर ही जनरल के लिए सीटें भर चुकी हैं मगर रामजस, हंसराज, एसजीटीबी खालसा के अलावा साउथ के वेंकी, अरबिंदो, एआएसडी समेत ईस्ट के कॉलेज और ईवनिंग कॉलेजों में अब भी कई सीटें बाकी हैं। कई कॉलेजों में तो कुछ कोर्सों का खाता भी नहीं खुला है। बीकॉम, बीकॉम ऑनर्स में भी कई सीटें बची हैं।
दूसरी ओर, हिंदू कॉलेज में 820 सीटों पर 900 से ज्यादा ऐडमिशन हो चुके हैं। पॉलिटिकल साइंस समेत कई कोर्स अब यह जनरल कैटिगरी के लिए नहीं खुलेंगे। वहीं, लेडी श्रीराम कॉलेज की पहली ही लिस्ट में 800 सीटों पर 877 ऐडमिशन हो चुके हैं। यहां इंग्लिश, मैथ्स और बीए प्रोग्राम के कुछ कॉम्बिनेशन में गिनती की कुछ सीटें खाली हैं। मिरांडा हाउस में भी कई कोर्स पहली ही लिस्ट में भर चुके हैं यानी दूसरी कटऑफ में जनरल कैटिगरी के लिए यहां कोई चांस नहीं है। यहां 1165 सीटें हैं और अब तक 1155 एउमिशन हो चुके हैं। जनरल के लिए पॉलिटिकल साइंस, इंग्लिश, हिस्ट्री, फिजिक्स ऑनर्स भर चुके हैं मगर दूसरी लिस्ट में इकनॉमिक्स, सोसियॉलजी, फिलॉसफी समेत साइंस के कुछ ऑनर्स कोर्स और लैंग्वेज के साथ बीए में ऐडमिशन जनरल के लिए भी होंगे। वहीं, एसआरसीसी में जनलर के लिए इको ऑनर्स बंद हो चुका है, जबकि बीकॉम ऑनर्स में करीब 250 सीटें बची हैं।